मुख्य पृष्ठ

नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति(बैंक), पटना का गठन राजभाषा विभाग, गृह मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली के आदेशानुसार बैंक ऑफ इंडिया, आंचलिक कार्यालय के संयोजन में किया गया था। वर्तमान में सदस्यों की कुल संख्या 22 है। वर्तमान में इसकी अध्यक्षता का दायित्व भारतीय रिज़र्व बैंक को सौंपा गया है तथा श्री नेलन प्रकाश तोपनो, क्षेत्रीय निदेशक, भारतीय रिज़र्व बैंक, पटना इस समिति के अध्यक्ष हैं। समिति द्वारा अब तक 70 अर्द्ध-वार्षिक एवं एक विशेष बैठक आयोजित की जा चुकी है। समिति द्वारा अपनी राजभाषा पत्रिका “पाटलिपुत्र प्रभा” का भी प्रकाशन किया जाता है। अब तक “पाटलिपुत्र प्रभा” के 19 अंकों का प्रकाशन किया जा चुका है। आगे पढ़िए…

श्री नेलन प्रकाश तोपनो क्षेत्रीय निदेशक, भारतीय रिज़र्व बैंक, बिहार और झारखंड अध्यक्ष, नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति (बैंक), पटना

अध्यक्ष का संदेश
मैंने हाल ही में नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति (बैंक) के पदेन सभापति का कार्यभार ग्रहण किया है। नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति (बैंक), पटना के बारे में जानकर अत्यंत खुशी हुई कि यह समिति नगर में राजभाषा हिंदी के प्रगामी प्रयोग की दिशा में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। राजभाषा हिंदी का संबंध हमारी अस्मिता से है। हिंदी में काम करना केवल हमारा सांवैधानिक दायित्व ही नहीं है, बल्कि हमारे बैंकिंग कारोबार को एक नया विस्तार देने, इसे एक नया क्षितिज प्रदान करने का एक सशक्त माध्यम भी है। भाषा मनुष्य के अस्तित्व को एक सर्जनात्मक स्वरूप प्रदान करती है। मनुष्य के व्यक्तित्व के निर्माण में भाषा, उसकी अभिव्यक्ति, उसकी वाणी और संवाद-कौशल की अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका होती है। भाषा ही साक्षरता, शिक्षा, ज्ञान, सूचना और संप्रेषण सभी की आधारशिला होती है। हमारी भाषा, हमारी वाणी ही हमारे स्वप्नों को, हमारी कल्पनाओं को, हमारी सोच और हमारे चिंतन को स्वर प्रदान करती है… आगे पढ़िए…

राधेश्याम मिश्रा, प्रबंधक (राजभाषा), भारतीय रिज़र्व बैंक, पटना एवं सदस्य सचिव, नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति (बैंक), पटना